Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, जून 18, 2018 | समय 09:15 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

छोटे हवाई अड्डों पर उड़ान सेवा बढ़ाने के लिए राज्य सरकार का जोर, विमानन कंपनियों को नहीं देना होगा कर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jun 14 2018 9:38PM
छोटे हवाई अड्डों पर उड़ान सेवा बढ़ाने के लिए राज्य सरकार का जोर, विमानन कंपनियों को नहीं देना होगा कर
कोलकाता, 14 जून (हि.स.) । पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्यभर के छोटे हवाईअड्डे से उड़ान सेवा की संख्या बढ़ाने की रणनीति बनाई है । दमदम हवाई अड्डे के अलावा राज्य में अंडाल, मालदा और कूचबिहार जैसे छोटे हवाई अड्डों में राज्य सरकार की एक बड़ी हिस्सेदारी है। इसका व्यावसायिक इस्तेमाल करते हुए सरकार ने इन हवाई अड्डों को अधिक से अधिक उड़ान सेवा देकर स्टेट टू स्टेट ट्रांसपोर्ट नीति के तहत मजबूत करने पर जोर दिया है । राज्य सचिवालय के अधिकारियों के मुताबिक, राज्य परिवहन में सुधार के लिए एयरलाइनों को इन हवाई अड्डों में उड़ान भरने के लिए राज्य सरकार प्रोत्साहन प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि इससे संबंधित नीति का क्रियान्वयन शुरुआती चरण में है। उन्होंने बताया कि इसे आरंभ करने के लिए, राज्य सरकार इन गंतव्यों के लिए उड़ान भरने के लिए विमानन, टरबाइन, ईंधन और एटीएफ पर स्थानीय करों में पर्याप्त छूट देगी। परिवहन विभाग में एक प्रमुख अधिकारी ने कहा कि पश्चिम बंगाल, एटीएफ पर 28% स्थानीय कर लगता जो कि भारत में सबसे ज्यादा है। पहले से ही अंडल, बागडोगरा और कूचबिहार की उड़ानों सेवाओं के लिए राज्य सरकार ने इसे छोड़ दिया है। इसी नीति को और कारगर बनाकर राज्य भर में विमानन सेवा के जरिए परिवहन को मजबूती देने की पहल की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/प्रकाश/दधिबल
image