Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, दिसम्बर 15, 2018 | समय 02:56 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सुसंस्कारित बालक ही देश का उज्ज्वल भविष्य - डा. गेहानी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jun 14 2018 9:29PM
सुसंस्कारित बालक ही देश का उज्ज्वल भविष्य - डा. गेहानी
भीलवाड़ा, 14 जून (हि.स.)। भारतीय सिंधु सभा के तत्वावधान में भीलवाड़ा में सिंधी बाल संस्कार शिविरों का समापन समारोह राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भगवानदास नथरानी की अध्यक्षता में संत कंवरराम धर्मशाला में आयोजित हुआ। मीडिया प्रभारी पंकज हेमराजानी ने बताया कि मुख्य अतिथि सिंधु सभा के प्रदेश मंत्री डा. प्रदीप गेहानी ने अपने उद्बोधन में कहा कि सुसंस्कारित बालक ही देश का उज्जवल भविष्य बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि अभिभावक अच्छे संस्कारों के बीजारोपण के माध्यम से बच्चों का चरित्र निर्माण करें ताकि आने वाले समय में राष्ट्र और भी अधिक सशक्त बन सके। विशिष्ट अतिथि जिलाध्यक्ष वीरूमल पुरसानी, हरिशेवा धाम के संत मायाराम, गोविन्द धाम के संत किशनदास, नगर अध्यक्ष जितेन्द्र रंगलानी व पं. चंदन शर्मा ने दीप प्रज्वलित करके समापन समारोह का शुभारम्भ किया। बालक-बालिकाओं को सम्बोधित करते हुए नथरानी ने कहा कि बच्चे शिक्षा के प्रति जागृत होकर अपने माता-पिता की सेवा करें तथा गुरुजनों को भी आदर भाव देवे साथ ही परिवार के अन्दर सभी सदस्य आपस में सिंधी भाषा में बातचीत करके बच्चो से निरंतर सीखी हुई चीजों का अभ्यास करायें। जिलाध्यक्ष पुरसानी ने संस्था की गतिविधियों का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि भारतीय सिंधु सभा द्वारा प्रतिवर्ष नगर में बाल संस्कार शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। जिनसे बच्चे सुसंस्कारित हो रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान अनेकों नन्हे-मुन्ने बालकों ने सिंधी लोकगीतों पर आधारित भजनों एवं नृत्य आदि की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं। शिविरों के दौरान विभिन्न विधाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले सभी बालक-बालिकाओं, शिविर प्रभारियों व शिक्षकों को अतिथियों द्वारा उपहार एवं प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन जिला संगठन मंत्री तुलसीदास नथरानी ने किया। इस अवसर पर साहित्य संकलनकर्ता गुलाबराय मीरचन्दानी ने वरुणावतार झूलेलाल, संत कंवरराम, अमर शहीद हेमू कालानी के जीवन चरित्र एवं सिंध के बारे में जानकारी देने वाली छायाचित्र प्रदर्शिनियां भी लगाई। कार्यक्रम के दौरान सभी वक्ताओं ने एकस्वर में 17 जून को जयपुर में आयोजित होने वाले सिंधु महाकुम्भ में जिले से अधिक से अधिक समाजजनों की सहभागिता का भी आह्वान किया। हिन्दुस्थान समाचार/मूलचंद/संदीप/ ईश्वर
image